ताज़ा गीत- love Story

6.7.08

केरल के मिटटी की महक है इस गीत में

उन दिनों पुस्तक मेले में ड्यूटी बजा रहा था हिंद युग्म की, घर लौट कर जब अपना गूगल खाता देखा तो मेल थी चार्ल्स की जो चाहते थे की मैं उनके लिए कोई गीत लिखूं, उम्र मात्र १७ वर्ष, मुझे लगा ये लड़का ठिठोली कर रहा है, और यूँ भी मैं हिन्दी में लिखता हूँ और उसे हिन्दी नही आती थी, खैर जब दूसरी बार ओर्कुट पर संदेश आया तो मैंने उन दिनों जो मेरे मेल का हस्ताक्षर हुआ करता था वही चार - पॉँच पंक्तियाँ उन्हें भेज दी और धुन बनाने को कहा.
( निखिल वर्गीस राजन, कोताराकारा, केरल )
करीब एक महीने तक उनका कोई जवाब नही आया, मैं भी लगभग भूल गया, फ़िर एक दिन अचानक उनका संदेश आया और एक फाइल जिसमें उन पंक्तियों की मूल धुन थी, धुन सुन कर मैं हैरान रह गया, इतनी मधुर थी कि बस मन खुश हो गया, उन्होंने मुझ से पूरा गीत भेजने के लिए लिखा था, अब मैं ये नही कह सकता था कि पूरा गीत तो मैंने लिखा ही नही है अब तक, बहरहाल मैंने जल्दी से उस गीत को मुक्कमल किया और उन्हें भेजा, जिस पर संगीतकार निखिल ने बेहद खूबसूरत धुन बनाई, चार्ल्स ने और मिथिला ने अपनी आवाजें दी, दो दिन तक लगातार १० -१० घंटे काम कर निखिल और उसकी टीम ने इस गीत को तैयार किया.
( चार्ल्स फिन्नी , कोची, केरल )

और इस तरह बना युग्म के दूसरे संगीत सत्र का यह पहला गीत। सुन कर देखें आप भी और बताएं कैसा है....
कृपया इस लिंक पर आयें http://podcast.hindyugm.com/2008/07/blog-post_04.html
उम्मीद करता हूँ कि केरल के इस नए संगीतकार निखिल वर्गीस राजन का संगीत और चार्ल्स फिन्नी और मिथिला कानूनगो की आवाजें आपको पसंद आएँगी.


( संगीत दिलों का उत्सव है .... पूरी टीम )

3 टिप्‍पणियां:

शैलेश भारतवासी ने कहा…

अच्छा तो ये थी कहानी। लगे रहो मियाँ लगे रहो

महामंत्री-तस्लीम ने कहा…

बहुत खूब। प्यारा गीत है, बधाई।

अवनीश एस तिवारी ने कहा…

good effort